Kaise Kisi Ko Bhool jaye Jise Hum Bohut Pyaar karte hai

0
13
views

कैसे किसी को भुलाएं जिसे आप बहुत प्यार करते थे

Dosto Aaj hum Je jane gay Ki Kaise Kisi Ko bhula De Jise Hum Bohut Pyaar karte hai / Jise Hum Bohut Yada Pyaar karte hai Ushe Kaise Bhool jaye jane hindi me ……………..

 मानव के अनुभवों में से एक सबसे रोमांचक, पुरस्कृत और संतोषजनक अनुभव प्यार है । चाहे प्यार परिवार, दोस्तों, एक बच्चे या रोमांटिक प्रेम के प्रति हो, पर यह एक सहभाजी मानव अपूर्व अनुभव है । भले ही एक व्यक्ति प्यार के शिखर पर बहुत अच्छा महसूस करता है, पर जब अपने प्रियजन से जुदा होने का वक्त हो तब वह व्यक्ति अत्यंत दर्द महसूस कर सकता है । चाहे उसके गुज़र जाने पर ज़िंदगी में आगे बढ़ना हो, या पुराने रिश्ते कोपछे छोड़ कर आगे बढ़ने का समय हो, दुख एक अंश है । जो खो चुका है उसके प्रति दुख प्रकट करके समय के उपचारात्मक गुण को स्वीकार कर लेना चाहिए । अपनी भावनात्मक सीमा पहचानें, लेकिन किसी के बारे में भूलते हुए खुद को अलग और हानि से ठीक होने की कोशिश करें ।

1 Ush Ladki ko Kaise bhoole Jise hum Bohut Pyaar karte hai

रिश्ते के प्रति दुख प्रकट करना

  1. 1

    दुख के पांच चरणों को समझें: इन सभी चरणों को और शुद्ध रूप से चक्रों के रूप में वर्णित किया जा सकता है । आप कभी भी अन्य चरणों का अनुभव न कर के, चरणों को छोड़ सकते हैं, पर आप खुद को इन चरणों में फंसा पा सकते हैं । लेकिन शायद आपको इन कुछ या सभी चरणों का अनुभव बार-बार हो सकता है । ये चरण हैं:
  2.  

    • अस्वीकार और अलगाव: इस चरण में स्थिति की वास्तविकता को नकारना शामिल है । यह दुख की वजह से हुए अत्यंत दर्द के प्रति एक स्वाभाविक प्रतिक्रिया है ।
    • क्रोध: जब नकारा हुआ दर्द सामने आने लगता है तो यह चरण उभर कर सामने आता है । क्रोध निर्जीव वस्तुओं, अजनबी, परिवार या दोस्तों की ओर प्रकट हो सकता है । ऐसा व्यक्ति जो मर गया हो या जो आपको छोड़ कर चला गया हो, उसके प्रति आप क्रोध महसूस कर सकते हैं, और क्रोध प्रकट करने के लिए आप बादे में दोषी की तरह महसूस कर सकते हैं ।
    • Apni Friend Ko Kaise Bhoole
    • सौदेबाज़ी: इस चरण में, आप यह महसूस कर सकते हैं कि असहाय महसूस करने के प्रति आपको नियंत्रण हासिल करने की ज़रूरत है । आप इस बारे में चिंतित महसूस कर सकते हैं कि आपको पहले ही एक बेहतर व्यक्ति बनना चाहिए था, या आपको मदद पहले ही मांगनी चाहिए थी, इत्यादि ।
    • उदासी: इस चरण में निराशा और पछतावा शामिल है जो कि इस बात के एहसास से होता है कि आपका वह प्रियजन अब आपकी ज़िंदगी से जा चुका है । आप भारी निराशा महसूस कर सकते हैं, रो सकते हैं, इत्यादि ।
    • स्वीकृति: इस चरण का विवरण एक शांत और लौटाव की अवस्था में पहुंचने से किया जा सकता है । कुछ लोग शायद दुख के इस चरण तक कभी नहीं पहुंचे ।
  3. 2

    अपने दुख को स्वीकार करें: वह रिश्ता, अब वास्तव में, खत्म हो चुका है । इसलिए, ऐसा महसूस करना ठीक है जैसा किसी के गुज़र जाने पर महसूस होता है । आप अपनी हानि को महसूस करने के हकदार हैं । नीचे खींचे जाए बिना या उनमें गुम हुए बिना दुख की लहरों पर सवारी करें । इसके प्रति संघर्ष न करें । वे जो हैं, उन्हें उसी असली रूप में पहचानें: भावनाओं की लहरें जो आपको एक मौसम के लिए कुछ अजीब प्रवाहों से ले जाएंगी और उस पूरी अवधि में वे आपके दिल को ठीक होने के लिए समय देंगी । दुख ठीक होने का एक हिस्सा है। Kisi Ko Kaise Bhoole

    • भले ही कोई यह न जान सके कि आप अपने जीवन में क्या अनुभव कर रहे हैं, आप फिर भी अपने दर्द को खुद से स्वीकार कर सकते हैं । जब आप निराश महसूस कर रहे हों, तो एक क्षण लें और कहें, “मैं दुखी हूं, पर कोई बात नहीं, मेरे लिए हालात ठीक हो जाएंगे ।”
  4. 3

    दूसरों के साथ अपने दुख को बांटें: हालांकि आप के आसपास लोग आपकी भावनाओं की गहराई को नहीं समझ पाएंगे, पर अपनी पहचान के कुछ लोगों के साथ अपना दुख बांटने में घबराएं नहीं ।
  5. 4

    यदि आपको ज़रूरत हो तो पेशेवर की मदद लें: क्या आपको लगे कि आप अस्वास्थ्यकर ढंग से दुख प्रकट कर रहे हैं या आप उदास हैं, तो आपको शायद आपको एक पेशेवर की मदद लेनी होगी । एक चिकित्सक आपको अपना दुख और क्या आप उदास हो रहे हैं यह सब समझने में मदद कर सकता है।

    • उदासी को बेहतर समझने के लिए “कैसे उदासी से छुटकारा पाएं” पढ़ें ।
    • यदि आप उदास न भी हों तब भी एक चिकित्सक के साथ बात करना उपयोगी हो सकता है । अपने दुख को कैसे संभालना है, आपको यह समझाने में एक चिकित्सक मदद कर सकता है ।

2

समय के बहाव का प्रबंधन करना

  1. 1

    खुद से जल्दबाज़ी न कराने का संकल्प लें: पुरानी कहावत “समय सारे घाव भर देता है” सच है ।हालांकि, यथार्थवादिता से भावना का सामना करने से और अपने आप को ठीक होने के लिए समय देने से ठीक होने में वृद्धि होती है । हम शायद एक जल्दी ठीक होने का उपचार चाहते हों, लेकिन अंततः फुर्तीले उपचार वहां मौजूद नहीं होते जहां असली प्यार होता था । समय जिस उपचार की पेशकश करे उसे स्वीकार करें और अपने आप से जल्दबाज़ी न कराने का संकल्प लें ।
  2. 2

    एक बार में एक दिन ले कर चलें: समय के उस पहाड़ का सामना करके उसे छोटे टुकड़ों में तोड़ दें । आप दीर्घ लक्ष्यों की योजना करने पर विराम का बटन दबा सकते हैं । यह समय वास्तव में एक बार में एक दिन का है ।
  3. 3

    छोटे जीतों का जश्न मनाएं: आपको फिर भी दर्द महसूस हो सकता है, लेकिन आप जल्दी ही यह देखेंगे कि वह कम तीव्र है । ठीक होने के स्मारकीय कदम की वास्तविकता पहचानें । यह बेहतर दिनों का एक वादा है ।
  4. 4

    खुद को कुछ सकारात्मक सोचने की अनुमति दें: जो आपके लिए सबसे स्वास्थ्यप्रद हो उस समानता का पता लगाएं जो दुखद क्षणों को इजाज़त दे और साथ ही सुखद क्षणों को अपनाए । जब नकारात्मक भावना की एक लहर वार करती है, तब जो आपको महसूस हो रहा हो उसे महसूस करने के लिए एक पल (यथाशब्द शायद सिर्फ एक मिनट) दें । फिर, अपने विचारों को किसी और अधिक सकारात्मक चीज़ पर स्थानांतरित करने का निर्णय करें ।

    • अभिलेख के लिए, जब आप शोक न कर रहे हों तब हंसना ठीक है । आपकी भावनाएं फिर से थोड़ी व्यवस्थित हो रही हैं । मानें या न, आपकी भावनाओं वही कर रही हैं जो उन्हें वास्तव में करने की ज़रूरत है । हालांकि, कभी कभी व्यवस्थित होने की प्रक्रिया अटक सकती है और हमें शायद उदासी से निपटना हो सकता है, जो कि एक गंभीर मामला है ।

3

अपने रिश्ते को याद करना

  1. 1

    एक उचित दृष्टिकोण से अपने प्यार का मूल्यांकन करें: एक बार इस व्यक्ति को खोने के आरंभिक दुख के खत्म होने के बाद, अपने पूर्व रिश्ते को सच्चाई से देखने के लिए आपके पास वह अच्छा समय है । अस्तित्व में क्या था उसे पहचानने से शुरूआत करें । यदि आपने अपने प्रियजन को उनकी मौत की वजह से खो दिया है और आप अपने जीवन में आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे हैं, तो आप यह पा सकते हैं कि आप अपने प्रियजन के साथ अपने रिश्ते को एक आदर्श रूप में प्रस्तुत कर रहे हैं, और बुरी यादों को छोड़कर सिर्फ़ अच्छी यादों के बारे में सोच रहे हैं । आप उन बुरी यादों के बारे में सोच कर अपने प्रियजन का अपमान नहीं कर रहे हैं । आप, इसके बजाय, उस वास्तविक और सच्चे व्यक्ति को याद कर रहे हैं । यदि आप दोनो के बीच प्यार था, तो वह चीज़ जो उस प्यार को इतना खास बनाती है, आप दोनो के बीच बिताए गए पल उस चीज़ का एक हिस्सा था, और वे तरीके जिन से आप मतभेदों को सुलझाते थे ।

    • मौत के बाद व्यर्थ में उस व्यक्ति को ज़्यादा सत्कार न दें । उन्हें ज़्यादा सत्कार देने से आप उन्हें अपने दिल में नहीं रख पाएंगे और आगे नहीं बढ़ पाएंगे, और ऐसा वह आपके लिए कभी नहीं चाहेंगे ।
    • यदि, आपको किसी के गुज़र जाने से नहीं बल्कि एक रिश्ता खत्म होने से हानि हुई थी, तो उसके लिए भी वही लागू होता है । आपका रिश्ता उत्तम नहीं था । यदि वह उत्तम होता, तो आप अभी आगे बढ़ने की कोशिश न कर रहे होते । भले ही उन्होंने आपक साथ रिश्ता तोड़ा हो, तब भी उससे रिश्ते की कुछ कमज़ोरी का पता चलता है, और वह बिल्कुल ठीक है ।
  2. 2

    प्यार को उच्च और निम्न पहलुओं की ओर सच्चे रहें: सभी रिश्तों की तरह, आपके रिश्ते में भी, शायद उच्च और निम्न क्षणों की एक श्रृंखला रही होगी । यदि आपने रिश्ते को खत्म नहीं किया था, तो आप उसका थोड़ा सा आदर्शीकरण कर सकते हैं । अपने अतीत में झांकना और अच्छे समय को याद करने में कोई बुराई नहीं है । लेकिन यथार्थवादी होना ज़रूरी है । उस रिश्ते में कुछ उतने अच्छे पल भी नहीं थे ।

    • रिश्ते के सकारात्मक पहलुओं की सराहना करें, और कैसे उस दूसरे व्यक्ति ने आपके वर्तमान व्यक्तित्व के प्रति योगदान किया था उसकी भी सराहना करें ।
  3. 3

    उन हिस्सों को पहचानें जो शायद आपके प्रति क्षति पहुंचा चुके हैं: रिश्ते की उन विशेषताओं को स्वीकारना महत्वपूर्ण हैं जिन्होंने आपके बुरा चरित्र को बाहर प्रकट किया था । इसका मतलब यह नहीं है कि वह दूसरा व्यक्ति बुरा था । लेकिन इससे आपको यह पता चल सकता है कि जब आप दोनो साथ थे तब आपके रिश्ते में कुछ विषाक्त अंश थे ।

    • एक बार इन विषाक्त तत्वों का पता लगाने पर, आप थोड़ा “विषहरण” करने के मौके की सराहना कर सकते हैं । यह आपको अन्य रिश्तों में उस तरह की चूकों से बचने का मौका देगा । आपने जो खो दिया हो, उसके प्रति अपने दृष्टिकोण का पुनर्मूल्यांकन करने में भी इससे मदद मिलेगी ।[३]इससे आपको अपनी सोच में उसे एक उचित स्थान देने में मदद मिलती है ताकि आप आग बढ़ने के लिए स्वतंत्र हों ।
  4. 4

    बुरे पहलुओं पर ध्यान केन्द्रित न करें: अपनी वर्तमान भावनाओं को और पुरानी यादें भूलकर आपके आगे बढ़ने के प्रयास को मिलाने के लिए अपने रिश्ते और उस व्यक्ति के बारे में ईमानदार रहना महत्वपूर्ण है । लेकिन उस व्यक्ति का तिरस्कार न करना महत्वपूर्ण है, भले ही उसने आपके साथ बुरा व्यवहार किया हो । अतीत के बारे में बहुत ज्यादा सोचना हानिकारक हो सकता है ।[४]

    • नकारात्मक संकेतार्थों को निर्धारित करने या बुरे पलों को याद करने से उस व्यक्ति के विचारों के प्रति आपके भावनात्मक संबंध मज़बूत हो सकते हैं, जिससे उन्हें भूलना मुश्किल हो जाता है । वास्तव में, आपका प्यार नाराज़गी में बदल सकता है । इससे वह व्यक्ति आपके दिल से मुक्त नहीं होता है । इससे वह केवल आपकी दयालुता से मुक्त होता है । आप आगे बढ़ने के लिए पूरी तरह से लायक हैं, इसलिए उसके प्रति अपने दिल की नकारात्मक भावनाएं भी प्रकट करने में सतर्क रहें ।

4

अन्य लोगों के साथ बातचीत करना

  1. 1

    अपने करीबी समर्थकों के साथ फिर से मिलें: अलगाव थोड़े समय के लिए सामान्य और ठीक है । लेकिन यह महत्वपूर्ण है कि आप खुद को अपने करीबी समर्थकों से ज़्यादा देर के लिए अलग न रखंा । वे आपको प्यार करते हैं और उन्हें यह जानने की ज़रूरत है कि क्या आप ठीक हैं या नहीं । जितना आप खुद को जानते हों, उसकी तुलना में वे कई बार आपको बेहतर जानते हैं । वे आपको अपने सबसे अच्छे रूप में फिर से आने में मदद कर सकते हैं ।

    • ये वे लोग हैं जो यह जानते हैं कि आपके साथ कब शांत रहना है और बाहर जा कर मजा करने के लिए आपको कब प्रोत्साहित करना है । वे जानते हैं कि आपको कैसे हंसाना है, और जब आपको रोने की ज़रूरत हो तब वे आपका समर्थन करते हैं । आपको हर किसी के पास जाने की ज़रूरत नहीं है, लेकिन उन लोगों पर भरोसा रखें जो आपके सबसे नज़दीक हों ।
    • ये लोग आपकी इन चीज़ों को समझने में भी मदद कर सकते हैं कि क्या आपका दुख उदासी में बदल रहा है और क्या आपको किसी पेशेवर की मदद की ज़रूरत है या नहीं ।
  2. 2

    वार्तालाप के लिए सीमाएं निर्धारित करें: यह जाने बिना कि आप किस स्थिति से गुज़र रहे हों, आपके दोस्त और परिवार उस दूसरे व्यक्ति के विषयों पर बातें करना शुरु कर सकते हैं । जब आपको बातों के विषय को बदलना हो तब अपने दोस्तों से वह कहने में कोई बुराई नहीं है । बस सच्चे रहें और उन्हें बताएं कि आपको समय की ज़रूरत है । आपको जिन चीज़ों से दुख पहुंचता हो उसके बारे में विशिष्ट रहें और जिसके बारे में आप इस समय बात नहीं करना चाहते हैं उसके प्रति भी विशिष्ट रहें ।[५]
  3. 3

    बातचीत के लिए सीमाएं निर्धारित करें: अपनी दर्द की सीमा का पता होना और अपने आप को बचाना महत्वपूर्ण है । शायद आप अपने पूर्व प्रियजन के साथ दोस्ती कायम रखने के लिए राज़ी हुए थे, लेकिन वे ”दोस्ताना” फोन कॉल दुखदायी हैं । आप कैसा महसूस कर रहे हैं उसके बारे में सच्चे रहें । आपको ठीक होने के प्रति खुद को समय देने के लिए पूरी तरह से अलग होने की आवश्यकता हो सकती है ।
  4. 4

    परिचितों के साथ मिलने के लिए निमंत्रणों को स्वीकार करें: संभवतः आपके ऐसे कुछ सहकर्मी, सहपाठी, या यहां तक कि दोस्त और परिवार के लोग हैं जो आपकी “नज़दीकी समर्थकों” की श्रेणी में नहीं हैं । शायद वे ऐसे लोग न हों जिनसे आप अपने दिल की बात करते हैं, लेकिन फिर भी आपकी ज़िंदगी में उनकी काफ़ी अहमियत है । दोपहर के भोजन के लिए अपने सहकर्मी के निमंत्रण को ठुकराने में कोई बुराई नहीं है, लेकिन फिर ये लोग पहले की तरह बेफिक्र, दोस्ताना, जीवन-से-मनबहलाव करने वाले दोस्त ही बने रहेंगे ।

    • इन समर्थनों में आम तौर पर प्राकृतिक सीमाएं होती हैं जिन्हें आपने पहले से ही स्थापित कर लिया है । आप काफ़ी ज़्यादा निजी बातें करने से बचते हैं और बातों को मजेदार और सतह पर ही रखते हैं । वे आपसे 30 मिनट की लंच ब्रेक के दौरान अधिक भावनात्मक बातों के बारे में बात करने की उम्मीद नहीं करेंगे ।
  5. 5  Apne Dost Ko Kaise Bhulaye / Jise Hum bohut Pyaar karte hai… Mai Apni friend Ko Bohut pyaar karta hoon lekin Ushe Bhool Nahi sakta ushe Bhoolu

    नए लोगों से मिलें: यह जो खो गया है उसकी जगह लेने के लिए नहीं है । बल्कि, यह आगे बढ़ने के लिए है । एक बार जब आपका दुख कम होने लगे, आप यह पाएंगे कि आप उस व्यक्ति के बारे में कम सोच-विचार रहे हैं जिसे आप भुलाने की कोशिश कर रहे थे । अब नए लोगों से मिलने का अच्छा समय है । नए लोग रोमांचक होते हैं ।
  6.   Kisi ladki Ko Kaise bhoole Jise Hum bohut Pyaar karte hai 
  • आपको आगे बढ़ने के लिए, किसी भी परिस्थिति में, लोगों के साथ डेट पर जाने की कोई ज़रूरत नहीं है । वास्तव में, ऐसा करने के बारे में केवल सोचने से भी आप भयभीत हो सकते हैं । तो तीव्रता को थोड़ा कम कर लें और एक आरामदायक तरीके से इसका पुनर्मूल्यांकन करें । डेटिंग की संस्कृति में डूबने के बजाय, नई दोस्ती की संभावनाओं में डूबें । दोस्ती बहुत ज़्यादा अद्भुत रूप ले सकती है । कुछ दोस्त परिवार के सदस्यों की तरह हैं । कभी कभी दोस्ती से आगे बढ़कर दोस्त प्रेमी बन जाते हैं । कभी कभी दोस्त बस दोस्त ही बने रह जाते हैं । भले ही एक नया दोस्त किसी भी श्रेणी में हो, और अधिक दोस्त बनाने में कुछ गलत नहीं है ।
  • Kisi ko Kaise bhoole Jise Hum Khona Nahi chahe hai ….
5

अपने आप को व्यक्त करना

  1. 1

    अपनी भावनाओं के बारे में बात करें: भावनाएं एक व्यक्ति को हिला सकती हैं और यहां तक कि उसे मौन भी कर सकती हैं । अब अपनी आवाज ढूंढने का समय है । एक परिवार के सदस्य, दोस्त, परामर्शदाता या एक पादरी के साथ इन चीजों के बारे में बात करें ।

    • कभी कभी ऐसा होता है कि कोई चीज़ इतनी व्यक्तिगत होती है जिसके बारे में अपने परिचित लोगों से बात करना भी मुश्किल हो सकता है । आप एक परामर्शदाता या पादरियों के सदस्य के साथ एक नियुक्ति करने पर विचार कर सकते हैं । भावनाओं में गड़बड़ी हो सकती है, जिससे उन्हें स्पष्ट रूप से ज़ाहिर करने में कठिनाई होती है । एक निष्पक्ष तीसरे पक्ष का व्यक्ति अपनी राय डाले बिना आपको अपनी भावनाओं को सुलझाने के लिए आपसे सही सवाल पूछ कर मदद कर सकता है ।
    • अपने खयालों में उलझे रहने के बजाय जहां आपके विचारों को मान्यता देने के लिए और उन्हें दूर करने के लिए कोई नहीं है, एक महत्वपूर्ण हिस्सा किसी के साथ सिर्फ़ बात आरंभ करना है ।
  2. 2

    व्यक्ति को एक पत्र लिखें: अपने प्रियजन को एक पत्र लिखें । फिर, यह वर्णन करने के लिए कि आपने उसे खुद एक मानसिक चुनाव ले कर भुला दिया है उस पत्र को छोड़ दें । कुछ लोग अपने पत्र को जलाना दस्तावर मानते हैं, जिससे वर्णन होता है कि अब वह निश्चित रूप से खत्म हो चुका है । या फिर आप शायद उस जगह के प्रति ज़्यादा विचारशील रहना चाहें जो जगह हमेशा उस व्यक्ति क वजह से आपके दिल में रहेगी । यदि आप उस व्यक्ति के गुज़र जाने पर जीवन में आगे बढ़ना चाहते हैं, तो यह अधिक उपयुक्त हो सकता है ।

    • यदि आप चाहें तो आप एक हीलियम भरे गुब्बारे में अपना संदेश रख कर उसे हवा में छोड़ सकते हैं ।
    • आकाश की लालटेन बनाना एक अन्य विकल्प है जिसपर आप प्यार के शब्द लिख सकते हैं और उसे हवा में यह मान कर छोड़ सकते हैं जैसे आप अपने प्रियजन को एक पत्र भेज रहे हैं ।
  3. 3

    एक डायरी में अपनी भावनाओं के बारे में लिखें: आप एक डायरी में अपनी भावनाएं भी लिख सकते हैं । जिन भावनाओं को आप सुधारना चाहते हैं और जो आप अभी महसूस कर रहे हैं, उन्हें उभरने के लिए थोड़ा वक्त दें । डायरी लिखने से आप अपने साथ पूरी तरह से सच्चे हो सकते हैं क्योंकि आपके शब्दों को केवल आपकी आंखे ही देख सकती हैं ।
    केवल अपने लिए एक बदलाव करें: अपने जीवन में एक छोटी सी चीज़ बदलने से आपको ताज़ा महसूस करने में मदद मिल सकती है और खुद को यह याद दिलाना कि आपका जीवन अभी भी मजेदार है, इस बात से भी आपको मदद मिल सकती है । अपने फर्नीचर को पुनर्व्यवस्थित करें । एक नए ढंग से बाल कटवाने की कोशिश करें । काम पर जाने के लिए एक अलग रास्ते से ड्राइव करें । मिठाई पहले खाएं । आप चाहे किसी भी चीज़ को बदलना चाहें, भले ही वह कितनी ही छोटी क्यों न हो, कोई ऐसी चीज़ चुनें जो आनन्ददायक हो । यह मूड ठीक करने का एक अस्थायी तरीका भी हो सकता है, लेकिन आपको यह याद दिलाने के लिए यह काफ़ी हो सकता है कि आप अभी भी मुस्कुरा सकते हैं और जीवन का आनंद ले सकते हैं ।
     इस अभ्यास से आपको अपनी सोच, अपने कार्यों और अपने व्यवहार में मौजूद आकृतियों को पहचानने में मदद मिलती है ।

 

6

अपने जीवन के साथ आगे बढ़न na 

  1. अपनी ख़ुद की ज़िंदगी जिएं: आप दुख प्रकट कर चुके हैं और आपने सच्चाई से अपने रिश्ते पर विचार करने के लिए अपने समय का उपयोग कर लिया है । आपने अपनी भावनात्मक सीमाओं का सम्मान करना और साथ ही उन्हें चुनौती देना सीख लिया है । आपने लोगों से बातचीत करना शुरु कर दिया है और आपको अपनी आवाज मिल गयी है । अब आगे बढ़ने का समय है । अपनी खुद की ज़िंदगी जी कर अपने प्रियजन के जीवन का सम्मान करें । उनके प्यार का असर आप पर इस वजह से पड़ा था कि वे कैसे जीते थे, न कि वे कैसे मरे । उनकी प्यार की विरासत को जारी रखें और खुद को आने वाले जीवन के प्यार में समर्पित होने दें ।

    • अक्सर, लोग अपने दुख को उन सर्वोत्तम विशेषताओं को ख़राब करने देते हैं जो उन्होंने एक मृतक के साथ बांटी थी । इसके बजाय, उन्हें अपनी यादों में एक अच्छी जगह रख कर अपने प्रति उनके प्यार को जारी रखें । प्रियजन को याद करते हुए मुस्कुराएं और हंसे । वे उन यादों में आपको खुशी प्रदान कर सकते हैं । हास्य सब ठीक करता है ।
  2. 2

    निर्धारित करें कि क्या आप अभी भी पलटाव के चरण में हैं या नहीं: हालंकि टूटे रिश्ते से ठीक होने के लिए खुद को समय देना महत्वपूर्ण है, पर आप एक अवसर पर किसी और के नज़दीक जाना चाहेंगे । हालांकि, आप अपने पुराने रिश्ते का भार एक नए रिश्ते में नहीं ले जाना चाहेंगे, फिर चाहे वह रिश्ता दोस्ताना हो या रोमांटिक । सोचें कि क्या आप अपने पूर्व प्रेमी के विचारों से मुक्त हैं या नहीं । यदि आप अभी भी उसके बारे में दिन में थोड़ी बार सोचते हैं, आप तब भी एक पलटाव के रिश्ते में पड़ सकते हैं । पलटाव की दोस्ती भी एक समस्या हो सकती है क्योंकि आप अभी अपने भावनात्मक जरूरतों में एक अस्थायी वक्त का सामना कर रहे हैं और किसी ऐसे व्यक्ति के नजदीक आ रहे हो सकते हैं जो उस ज़रूरत को पूरा करता है । लेकिन यह रिश्ता शायद उचित नहीं रहेगा । वास्तव में, शायद आपको देने के लिए उसके पास और कुछ भी न हो ।
  3. 3 Apni Jaan ko Kaise Bhoole Jise Hum Bohut Pyaar karte hai ….

    पता लगाएं कि आप उस व्यक्ति के बारे में कितना सोचते हैं: क्या अपने पूर्व प्रेमी के बारे में सोचे बिना आप उन स्थानों पर जा सकते हैं जहां आप उसके साथ कई बार जाया करते थे? यदि वह अभी भी आपकी दुनिया से जुड़ा है, तो आपको शायद और अधिक समय की ज़रूरत है ।
  4. 4   Apne Pyaar Ko Kaise Bhoole ?

    यादों को नए अनुभवों से बांधें: जबतक आप तैयार न हो, तबतक उन स्थानों से दूर रहना उचित है जो आपको उस व्यक्ति की याद दिलाएं जिसे आप भूलने की कोशिश कर रहे हैं । लेकिन याद रखें कि दर्द परतदार होता है । हालांकि आनाकानी शुरुआत में ठीक है, अंत में आप खुद को पूरी तरह से ठीक होने के लिए उत्तेजित करना चाहेंगे । एक विश्वसनीय दोस्त के साथ पुराने स्थानों पर जाने पर विचार करें । फिर आप नई यादें और संघ बनाना शुरू कर सकते हैं । उस स्थल से शुरु करें जो आपके लिए सुविधापूर्ण हो, और धीरे-धीरे अपनी यादों और कहानियों को फिर से लिखना शुरू करें । वे स्थान अभी भी ख़ास हो सकते हैं ।

Girl Friend Ko Kaise bhoole Jise hum Bohut Pyaar karte hai 

  1. जब वह गाना रेडियो पर आता है, तब क्या आप अभी भी उस व्यक्ति के बारे में सोचते हैं? यदि हां, तो अभी आगे बढ़ना बहुत जल्दी हो सकता है । आपको उस याद को वापस प्राप्त करने के लिए उसे नए अनुभवों से बांधने की आवश्यकता हो सकती है । अपने दोस्तों के साथ उस गीत को बांटने की कोशिश करें और आपको उसे एक नया अर्थ देने में उनकी मदद मांगें । उसे मजाकिया बनाएं । याद रखें, हास्य सब ठीक कर देता है ।

    • यदि आपको किसी रेस्तरां से बाहर का दृश्य अच्छा लगता है, तो अपने सबसे अच्छे दोस्तों में से कुछ दोस्तों को वहां मिलें । हंसें, आनंद लें और उस जगह को फिर से खुशी से जोड़ना शुरू करें । थोड़ा थोड़ा करके परतों को छीलें, और उन्हें अपने जीवन में नया और एक सकारात्मक अर्थ दें ।
  2. 5

    निगरानी करें कि किसी के आपके प्रियजन का नाम कहने पर आपकी क्या प्रतिक्रिया होती है:जब कोई आपके पूर्व प्रियजन का नाम कहता है, तो क्या आपको अभी भी दर्द महसूस होती है? जब आप उस दर्द को महसूस करते हैं, तो खुद को उसे शुभकामना देना याद दिलाएं। यह मूर्खतापूर्ण लग सकता है, लेकिन इससे आपको उस व्यक्ति के प्रति अपने स्वचालित विचारों का पुनः परीक्षण करने में मदद मिल सकती है ।
  3. अपने पूर्व प्रेमी को देखने पर अपनी भावनात्मक प्रतिक्रिया आंकें: यदि आपको कभी अपना पूर्व प्रेमी किसी और के साथ दिखे, तो आपकी भावनात्मक प्रतिक्रिया कितनी मजबूत होगी? क्या उसे खुश देख कर आपको कष्ट पहुंचेगा ? क्या आप उसके लिए खुश हैं? क्या आपने उसे भुला दिया है?

    • एक छोटी सी चोट की उम्मीद रखनी चाहिए, और एक शारीरिक घाव की तरह, आप ठीक हो सकते हैं, और पूरी तरह से कार्यात्मक और बाहर निकलने के लिए तैयार भी हो सकते हैं । बस सुनिश्चित करें कि वैसा करने से पहले आप दर्द में न हों ।

    Kaise Kisi ko bhool Jaye Jane Hindi me ?

Previous articleWithout VISA Aap Kar sakte hai In 59 देशों की यात्रा Hindi me jane
Next articlejaaniye interview ke time kiss tara ki dresses pehnana chahiye
Pyaare Dosto Mera Naam Inder Hai ! Mai punjab Se Belong Krta Hoon ! (Hindi Me Seekhna ) Website Maine Banayi Hai ! Aur Mai ish Website ke Jariye Mai Logo Ki Help Krta Hoon ! Mujhe Logo Ki Help Karna Accha Lagta hai ! Aap Ish Website Pe Daily Visit Kare Aur Yaha Pe Blogger Ki Puri Jaankari Aur Online Paisa Kaise Kamate Hai Puri Jaankari Diya Jata hai ! Ager Aap Bhi Online Paisa Kamana Chhate Hai To Hamare Sath Baat Kare ! Dosto Hamari ik Team Hai Jo Daily whatsapp ke jariye 100 se 1000 Kamati hai Aap Bhi Hamari Team join Kare ! Thnaks
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here