How To avoid heart disease Take the full amount of vitamin D.

Today i am share with you  to avoid Diesease read in hindi and english 

 1.  Childhood is equal to the risk of major heart diseases from getting adequate amounts of vitamin         D. In a study it is encountered. This showed that 25 years after not getting enough vitamin D in           infancy adults in front of the stage in the research comes as sabaklinikala etherosklerosisa.



how To avoid heart disease Take the full amount of vitamin D.
 how To avoid heart disease Take the full amount of vitamin D. 



2. Etherosklerosisa is a direct connection between heart disease and it affects cardiovascular                 activities. In Finland, the University of truck Marcus juonala stated that vitamin D 
  deficiency in childhood, according to the results of our research and older age has been found             between sabaklinikala problem etherosklerosisa.



3.  Study researchers studied their first three to 18 years of age and 2,148 participants in these study        participants were ages 45 to 30. Study found participants who had not received the full amount of       vitamin D in childhood, the more they risk responsible carotid intima-Thickness (Sector-) or heart       disease for etherosklerosisa after adults.


dil ki bimari se kaise bache jaane  hindi me 

1. बचपन में विटामिन डी की पर्याप्त मात्रा न मिलने से बड़े होकर दिल की बीमारियों का खतरा रहता है. एक अध्ययन में यह बात सामने आई है. शोध में पता चला है कि बचपन में विटामिन डी की पर्याप्त मात्रा नहीं मिलने से 25 साल बाद वयस्क अवस्था में यही कमी सबक्लिनिकल एथेरोस्क्लेरोसिस के रूप में सामने आती है.

2. एथेरोस्क्लेरोसिस का सीधा संबंध दिल की बीमारी से है और यह हृदय की गतिविधियों को प्रभावित करती है. फिनलैंड की यूनिवर्सिटी ऑफ टुरकु के मारकुस जुओनाला ने कहा कि हमारे शोध के परिणाम के अनुसार बचपन में विटामिन डी की कमी और वयस्क अवस्था में सबक्लिनिकल एथेरोस्क्लेरोसिस की समस्या  के बीच संबंध पाया गया है.

3. शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में पहले तीन से 18 साल के आयुवर्ग के 2,148 प्रतिभागियों का अध्ययन किया और इन्हीं प्रतिभागियों का 30 से 45 की उम्र में फिर से अध्ययन किया गया. अध्ययन में पाया गया जिन प्रतिभागियों को बचपन में विटामिन डी की भरपूर मात्रा नहीं मिली थी, उन्हें वयस्क होने के बाद एथेरोस्क्लेरोसिस के लिए जिम्मेदार कैरोटिड इंटीमा-थिकनेस (आईएमटी) यानी दिल की बीमारी का खतरा ज्यादा था.

HINDIMESEEKHNA KA LAST PONIT NOTE KARE 

hindi me seekhna se aaj hum ne seekha hai ki dil ki bimariyon se kaise bacha jaa sakta hai so i hope u know daily vist karte rahiye ga hindimeseekhna.com pe thank u

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *