Shaam Ko Jhadu Kyu Nahi Lagana Chahiye ?

जानिये शाम में क्यों नहीं लगाते झाड़ू

Shaam ko jhadu kyu nahi lagate hain?
Beta Jhadu mat lagaye shaam ho geya hai ? ye batain hamesha bajurg logo ke muh se sunne ko milti hai ,shaam ko  jhadu kyu nahi lagana chahiye ?raat ko jhadu mat lagaye ? suraj doobne ke baad jhadu kyu nahi lagate
 broom pic with rekha rani 
आपने कई बार बड़े बुजुर्गों के मुंह से सुना होना, रात को झाड़ू मत लगाओ, तुलसी को मत छूओ और भी कई बातें. पर क्या आपको यह मालूम है कि ऐसा आखि‍र क्यों कहा जाता है. आज हम उसी रहस्य से पर्दा उठाने वाले हैं. आइये जानते हैं…
 
Shaam Ko Kyu Nahi chhoote Tulsi ko ?
शाम को नहीं छूते तुलसी
शाम के वक्त लोग तुलसी के सामने दीप जलाते हैं, उसकी अर्चना करते हैं, पर उसे छूते नहीं हैं और न ही उसे जल चढ़ाते हैं. शाम को तुलसी के सामने दीप जलाने से लक्ष्मी जी की कृपा होती है. लेकिन अगर आप शाम को तुलसी को छूते हैं या उन्हें जल देते हैं तो इससे वो नाराज होती हैं. इस तरह लक्ष्मी जी रुष्ट हो जाती हैं. वो अपनी कृपा नहीं करतीं. दरअसल, ऐसी मान्यता है कि शाम के समय तुलसी जी आराम करती हैं और छूने से वो जग जाती हैं. नींद में खलल पड़ने की वजह से वो भक्त को अपने आर्शि‍वाद से महरूम कर देती हैं. वैज्ञानिक भी मानते हैं कि रात के समय पौधों को पानी नहीं देना चाहिए. पौधों के भी सोने और जागने का वक्त होता है. ऐसे में यदि आप उन्हें रात में पानी देंगे तो उनकी सेहत खराब हो सकती है और वो मुर्झा सकते हैं.
Shaam Ko Jhadu Bhool Kar Bhi Mat Lagaye ?

शाम को झाड़ू भूल कर भी नहीं

सूरज डूबने के बाद घर में झाडू नहीं लगाना चाहिए. दरअसल, ऐसी मान्यता है कि शाम के वक्त झाड़ू लगाने से लक्ष्मी जी घर के बाहर चली जाती हैं. एक वजह यह भी है कि पुराने जमाने में बिजली नहीं होती थी. सूरज डूबते ही लालटेन या दीये की रोशनी में लोग काम करते थे. ऐसे में अंधेरे में झाडू लगाते हुए कई बार जरूरी चीजें भी बाहर कूड़े में चली जाती थीं. इसलिए भी इसे नियम के तौर पर माना जाने लगा कि अंधेरा होते ही या दिन ढलने के बाद झाडू नहीं लगाना चाहिए.shaam ko jhadu kyu nahi lagayea jata .suraj doobne ke baat jhadu kyu nahi lagate,
Guruwaar Ko Kyu Nahi Karte Saving ?
गुरुवार को क्यों नहीं करते शेविंग
वीरवार को आमतौर पर लोग बाल और दाढ़ी नहीं बनवाते. गुरुवार को ये गलती लोग भूल कर भी नहीं करते. दरअसल, गुरुवार को बृहस्पति यानी कि देवताओं के गुरु का दिन माना जाता है. ये धारणा है कि बृहस्पति भाग्य के कारक होते हैं. ऐसे में यह मान्यता है कि गुरुवार को जो लोग बाल कटाते हैं और शेविंग करते हैं, उनका भाग्य खराब हो जाता है.
 Raat Me Nahi Kaat te Nakhun ?
रात में नहीं काटते नाखून
इसके पीछे की एक वजह यह है कि पहले बिजली नहीं रहा करती थी और अंधेरे में नाखून काटना जरा जोखिमभरा काम था. इसके अलावा लोगों के पास तब नेलकटर भी नहीं हुआ करते थे, वो चाकू, ब्लेड या कैंची से नाखून काटते थे. दूसरा, इसका धार्मिक पक्ष यह है कि रात में नाखून काटने से लक्ष्मी जी नाराज होती हैं. उन्हें रात में नाखून काटना बिल्कुल पसंद नहीं है. ऐसे व्यक्त‍ि पर लक्ष्मी अपनी कृपा नहीं दिखाती और उसे धन की हानि भी होती है.
hindimeseekhna.com => shaam ko jhadu kyu nahi lagate hai,dosto aaj hum sabhi dosto aur all indian peoples ne jaan liya hoga ki raat ko jhadu kyu nahi lagate hai .raat ko nakhun kyu nahi kaat te hai.guruwaar ko saving kyu nahi karte hai,aur shaam ko kyu nahi chhoote tulsi dosto aise hi best info jaan ne ke liye hindi me seekhna  website se daily banne rahe aur ish webiste ko apne dosto ke saath share bi kare aur facebook ko like karna mat bhoole ,dosto post acchi laggi ho to comment jaroor kare 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *